नई दिल्ली: इस वक्त हर किसी के दिमाग में बस एक ही सवाल है. आखिर कोरोना वायरस का टीका कब आएगा? लेकिन अब आपको हताश होने की जरूरत नहीं है. वैज्ञानिकों द्वारा कोरोना वैक्सीन पर पिछले 6 महीने की मेहनत अब रंग लाने लगी है. यहां जानिए क्या है टीका निर्माण का ताजा हाल….

अमेरिका में अंतिम चरण के परीक्षण जारी
अमेरिका में कोविड-19 के जिस पहले टीके का परीक्षण किया गया है वह वैज्ञानिकों की उम्मीद के मुताबिक लोगों की रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है. वैज्ञानिकों ने मंगलवार को यह बात कही. इस टीके का परीक्षण अब अंतिम चरण में है. अमेरिकी सरकार में संक्रामक रोगों के शीर्ष विशेषज्ञ डॉ. एंथनी फाउची ने कहा, ‘निश्चित ही यह एक अच्छी खबर है.’

इस टीके को नेशनल इंस्टीट्यूट्स ऑफ हेल्थ ऐंड मॉडर्ना इंक में फाउची के सहकर्मियों ने विकसित किया है. इस प्रायोगिक टीके के परीक्षण की दिशा में 27 जुलाई के आसपास एक अहम कदम उठाया जाएगा जब 30,000 लोगों पर यह पता लगाने के लिए कि शोध होगा कि यह टीका कोरोना वाायरस से बचाव में कितना प्रभावशाली है.

भारत के दो टीकों के ह्युमन ट्रायल हुए शुरू
भारत बायोटेक और जायडस कैडिला को भारत सरकार से अपने टीकों के ह्यमुन ट्रायल की मंजूरी मिल गई है. मंगलवार को भारत बायोटेक ने अपने टीकों को इंसानों पर टेस्ट करना शुरू कर दिया है. आज केंद्र सरकार ने दवा कंपनी जायडस कैडिला को भी संभावित टीके ‘जायकोव- डी’ को ह्युमन ट्रायल की अनुमति दे दी है. 

ये भी पढ़ें: ये रही वो दवा जो कोरोना को बदलती है जुकाम में! बेहद असरदार नतीजे का किया जा रहा दावा

कंपनी ने शेयर बाजारों को भेजी नियामकीय सूचना में कहा है कि परीक्षण के विभिन्न चरणों में कंपनी देश में विभिन्न चिकित्सकीय अध्ययनों में 1,000 लोगों पर इसका परीक्षण करेगी.

 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here