साउथ अफ्रीका में शेरों के संरक्षण के काम से जुड़े एक व्यक्ति को उन्हीं शेरनियों ने मार डाला, जिनको उन्होंने पाला था। यह घटना लिम्पोपो प्रांत में हुई। 69 साल के वेस्ट मैथ्यूसन सफेद शेरनियों के साथ टहल रहे थे। इसी दौरान उनमें से एक ने उन पर हमला कर मार दिया।

वेस्ट मैथ्यूसन 'लॉयन ट्री टॉप लॉज' नाम से एक सफारी लॉज चलाते थे।

साथ टहलने के दौरान हमला
वेस्ट मैथ्यूसन को ‘अंकल वेस्ट’ के नाम से भी जाना जाता था। उन्होंने इन शेरनियों को तब से पाला था, जब वे शावक थीं। मैथ्यूसन 'लॉयन ट्री टॉप लॉज' नाम से एक सफारी लॉज चलाते थे। जिस समय शेरनी ने हमला किया, तब मैथ्यूसन की पत्नी गिल कार में वहीं मौजूद थीं।

पहले शेरनियां आपस में लड़ीं, इसके बाद उनमें से एक ने मैथ्यूसन पर हमला कर दिया। गिल ने कार से ही शेरनियों को डराकर हटाने की कोशिश की। उन्होंने तुरंत मैथ्यूसन को वहां से उठाया और अस्पताल लेकर गईं, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका। इसके बाद तुरंत बाद शेरनियों को बेहोश कर दूसरे लॉज शिफ्ट किया गया। मैथ्यूसन के परिवार ने कहा कि उनके लिए जो माहौल सबसे ठीक होगा, उसमें छोड़ा जाएगा।

मैथ्यूसन को शेरों को 'कैन्ड हंटिंग' से बचाने के लिए जाना जाता था।

शेरनियों ने 2017 में भी एक व्यक्ति को मारा था
2017 में भी ये दोनों सफेद शेरनियां लॉज से भाग निकली थीं और पड़ोस में काम कर रहे एक व्यक्ति को मार दिया था। तब मैथ्यूसन ने कहा था कि शेरनियां आक्रामक नहीं हैं। वे रोज तीन से चार घंटे उनके साथ टहलती हैं। मैथ्यूसन शेरों को 'कैन्ड हंटिंग' से बचाने के लिए जाना जाता है। कैन्ड हंटिंग में शेर या दूसरे जंगली जानवारों को तार या बाड़ा बनाकर एक निश्चित दायरे में रखा जाता है, इसके बाद उनका शिकार किया जाता है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


वेस्ट मैथ्यूसन को अंकल वेस्ट के नाम से भी जाना जाता था। उन्होंने इन शेरनियों को तब से पाला था जब वे शावक थीं।- फाइल फोटो

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here